चने में फुटाव बढाने का देशी तरीका : लोग पूछेंगे क्या डाला, जानें 3G Cutting का छुपा नुस्खा

chane ki 3g cutting

Google News

Follow Us

3G Cutting: किसान भाइयों, चने की फसल में फुटाव बढ़ाने के लिए किसान भाइयों को अक्सर अलग-अलग खादों और दवाओं का सहारा लेना पड़ता है, जिससे खर्च बढ़ जाता है।

इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको एक ऐसे शानदार तरीके के बारे में बता रहे हैं, जिससे आप चने की फसल में बड़े पैम्पर फुटाव देख सकते हैं और वह भी बिना ज्यादा खर्चे के। आइए जानते हैं इस देशी तरीके को कैसे अपनाया जा सकता है।

अपनाएं चने की फसल में “3G कटिंग” बढ़ेगी पैदावार

चने की खेती करने वाले किसान अधिक पैदावार के लिए विभिन्न तरीकों का प्रयोग करते हैं। इन तरीकों में से एक है “खुटाई” जिसे अन्य नामों से भी जाना जाता है जैसे 3G Cutting या टॉप कटिंग। यह तकनीक किसानों को उच्च पैदावार के साथ-साथ कम लागत में भी लाभ प्रदान कर सकती है।

खासकर काबुली चने की फसल में किसान अक्सर “3G कटिंग” तकनीक का इस्तेमाल करते हैं। इस तकनीक में, चने की फसल के पौधे जब 35 से 40 दिन के आसपास होते हैं और पौधों में शाखाएं निकलने शुरू होती हैं, तब किसान एक देशी जुगाड़ का उपयोग करके चने की ऊपरी पत्तियों को थोड़ा काट देते हैं।

इससे मुख्य रूप से चने की शाखाओं को ऊपर से काटा जाता है, जिसके कारण इस तकनीक को “3G कटिंग” कहा जाता है।

3G Cutting से चने मे फुटाव बढ़ाएं

3G cutting करने से, चने की ऊपरी शाखाएं रुक जाती हैं और पौधे में नई शाखाएं निकलती हैं। इससे मतलब है कि पौधे में ज्यादा से ज्यादा शाखाएं विकसित होती हैं, जैसा कि आप नीचे दी गई तस्वीर में देख सकते हैं।

Chane ki 3G Cutting

खुटाई (3G cutting) के फायदे:

  1. पौधों में अधिक शाखाएं निकलती हैं।
  2. फूलों एवं फलों की संख्या में वृद्धि होती है।
  3. पैदावार में वृद्धि होती है।

खुटाई (3G cutting) करने का सही समय और तरीका:

  1. आमतौर पर 30 से 40 दिनों के पौधों की खुटाई की जाती है।
  2. इस प्रक्रिया को फूल निकलने से पहले करना चाहिए।
  3. फूलों के निकलने के बाद खुटाई करने से लाभमान होता है और पौधे की सही विकास प्रोत्साहित होती है।

खुटाई (3G cutting) का सही तरीका:

  1. छोटे पौधों की तीसरी पीढ़ी की शाखा के ऊपर से थोड़ी कटाई करें।
  2. यदि किसी पौधे में एक से अधिक शाखाएं हैं तो सभी तीसरी पीढ़ी की शाखाओं को ऊपर से थोड़ी कटाई करें।
  3. कटाई के 5 से 6 दिनों बाद ही छोटी-छोटी कई शाखाएं निकलने लगती हैं।

यह भी पढ़ें

ऐसे करें चने की खेती होगी बम्पर कमाई – बुआई, सिंचाई, रोग, पैदावार

क्या हमें 3G Cutting अपनाना चाहिए

लेकिन किसान भाइयों, 3G कटिंग का उपयोग केवल विशिष्ट प्रकार की चने, जैसे काबुली चने, की फसल में ही किया जाता है। इस तकनीक को अपनाने से पहले, आपको मौसम की स्थिति को ध्यान में रखना चाहिए। अगर मौसम अनुकूल है तो ही इस तकनीक का अभ्यास करना चाहिए।

किसान भाईयों, इस तकनीक को अपनाने से पहले आपको समझना होगा कि क्या आपके इलाके में इसका अभ्यास करना संभव है। आप सबसे पहले इसे छोटे क्षेत्र में आजमा सकते हैं, और अगर यह प्रभावी होता है, तो आप इसे बड़े पैमाने में लागू कर सकते हैं।

चने की फसल में “3G कटिंग

यह आपको इस तकनीक के प्रभाव को समझने में मदद करेगा और आने वाली फसलों के लिए सही निर्णय करने में मदद करेगा।

KisanEkta.in एक ऐसी वेबसाईट है जहां हम किसानों को जोड़ने, शिक्षित करने और सशक्त बनाने का काम कर रहे हैं। यहां पर आपको सबसे ताजा मंडी भाव (Mandi Bhav), किसान समाचार, सरकारी योजनाओं के अपडेट और कृषि और खेती से जुड़े ज्ञान की जानकारी मिलती है। हमारा उद्देश्य है कि हम किसानों को जोड़कर उन्हें उनके काम को बेहतर बनाने के लिए जरूरी समाधान प्रदान करना है। हम अपनी कोशिशों के माध्यम से किसान समुदाय को एक साथ लाने में मदद कर रहे हैं।