क्या सरसों मे और तेजी आएगी? बिना यह रिपोर्ट देखे न बेचें अपनी सरसों- Sarso Teji Mandi Report

Sarso Teji Mandi Report

Google News

Follow Us

Sarso Teji Mandi Report 10-03-2024 : किसान साथियों, KisanEkta.in पर हमेशा देखा जाता है कि फसलों के भाव सीजन के अनुसार बदलते रहते हैं। यहाँ तक कि एक ही फसल के भीतर भी इस अंतर को देखा जा सकता है।

सामान्यत: सीजन के दौरान जब फसलों की कटाई होती है, तो उनके भाव में कमी आती है क्योंकि उत्पादन में वृद्धि होती है। हालांकि, यदि किसानों के पास फसल की कमी की संभावना हो, तो भाव ऊपर की ओर बढ़ सकते हैं।

धान, गेहूं, सरसों, चना और लहसुन के मामले में, हम इस उतार-चढ़ाव को अनुभव कर चुके हैं। अन्यथा, आमतौर पर, जब किसान के पास फसल होती है, तो उसे फसल के भाव न्यूनतम स्तर पर ही देखने को मिलते हैं…

आखिर क्यूँ हुई सरसों की दुर्गति

Sarso Teji Mandi Report : किसान साथियों, पिछले 1-2 सालों में सरसों की भाव में दिखाई गई दुर्गति को हम सभी ने नोट किया है। यहां तक कि सरसों के भाव जो पहले 8000 के स्तर पर थे, वे अब 5000 के आसपास हैं।

हालांकि, पिछले 1-2 हफ्तों से सरसों के भाव में कुछ स्थिरता आई है, और अब लग रहा है कि तेजी का दौर समाप्त हो गया है। लेकिन, क्या यह वास्तव में ऐसा हुआ है? इस सवाल का जवाब ढूंढने के लिए, आपको यह आर्टिकल अंत तक जरूर पढ़ना चाहिए।

क्या रहा है ताजा मार्केट अपडेट, यह पढ़ें

Sarso Teji Mandi Report : ग्रामीण बाजारों में अंतरराष्ट्रीय विपणन में वृद्धि और घरेलू उत्पादों की विक्रय की बढ़ती मांग के कारण, शुक्रवार को सरसों के भाव एक तीसरे दिन के दौरान उच्चतम स्तर पर चले गए। शुक्रवार की तेजी बेहद महत्वपूर्ण थी।

जयपुर Sarso Teji Mandi Report में, कंडीशन के सरसों के भाव 75 रुपये तेज होकर 5550 रुपये प्रति क्विंटल पर पहुंच गए। हालांकि, एमएसपी की कीमतों में अभी भी 100 रुपये का अंतर था। शुक्रवार को, ब्रांडेड तेल कंपनियों में 25 से 75 रुपये तक की तेजी देखी गई।

चरखी दादरी में भी, लंबे समय के बाद कंडीशन सरसों के भाव 5450 के आसपास देखे गए। रेवाड़ी मंडी में टॉप भाव को 5350 रुपये प्रति क्विंटल के रूप में नोट किया गया। खैरथल और गंगापुर मंडी में सरसों की कीमत में 100 रुपये तक की तेजी देखी गई।

महाशिवरात्रि के पर्व के कारण कई मंडियों की बंदिश का असर भी दिखा, जिसके कारण कुल आवक में 5 लाख बोरी की कमी देखी गई।

प्लांट पर सरसों बिक रही महंगी Sarso Teji Mandi Report

Sarso Teji Mandi Report : किसान साथियो, सलोनी प्लान्ट पर सरसों का भाव फिर से 6000 के पार हो गया है, जो की लंबे समय के बाद हुआ है। शुक्रवार को, पुरानी सरसों का भाव 6025 रुपये प्रति क्विंटल था, जबकि नयी सरसों का भाव 5925 रुपये तक पहुंचा।

इस तेजी को बनाए रखने के लिए, आने वाले 2-4 दिनों में ये भाव इस स्तर को बनाए रखना महत्वपूर्ण है। गोयल कोटा प्लान्ट पर भी सरसों के भाव 75 रुपये प्रति क्विंटल तक तेज होकर 5300 के स्तर पर पहुंच गए हैं। रुचि प्लान्ट पर भी 125 रुपये की तेजी देखने को मिली है।

ये हैं विदेशी खाद्य तेल बाजार के हाल

Sarso Teji Mandi Report : विश्व बाजार में खाद्य तेलों की कीमतों में उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है। शुक्रवार को, मलेशियाई पाम तेल के दाम शाम के सत्र में कमजोर हो गए, जबकि शिकागो में सोया तेल की कीमतों में तेजी दर्ज की गई।

बाजार जानकारों के अनुसार मलेशियाई पाम तेल की कीमतों में हाल ही में तेजी आई है। अर्जेंटीना में मुश्किलों के बीच, भारत में सोयाबीन और सूरजमुखी तेल की कमी महसूस हो रही है।

आने वाली है नई सरसों, बढ़ेगी आवक

Sarso Teji Mandi Report : किसान वीरों, सरसों उत्पादक राज्यों में मौसम साफ चल रहा है। विशेषज्ञों का कहना है कि अगले कुछ दिनों में मौसम सुहावना रहेगा, जिससे सरसों की उत्पादनता और बढ़ेगी।

इस साल सरसों का उत्पादन अधिक होने की संभावना है, इसलिए तेल मिलों को अभी भी सिर्फ आवश्यकतानुसार ही खरीदने की आवश्यकता है। विदेशी बाजारों में तेजी और घरेलू बाजार में खपत के सीजन के कारण, फिलहाल सरसों तेल की मांग अभी बनी हुई है।

आयातित खाद्य तेलों में लगातार बढ़ती तेजी के कारण, घरेलू बाजार में सरसों तेल की कीमतों में थोड़ा सुधार आने की उम्मीद है। यह जानते हुए कि आवक की दर में वृद्धि के कारण आगामी समय में संज्ञान रखने की जरूरत है, लेकिन बड़ी तेजी की संभावना अभी भी कम है।

बढ़ रहे है सरसों तेल के भाव

Sarso Teji Mandi Report : जयपुर में सरसों के तेल के बाजार में जोरदार गर्मी महसूस हो रही है। कच्ची घानी और एक्सपेलर की कीमतों में आज भी तेजी आई है।

कच्ची घानी सरसों तेल के दाम 10 रुपये तक उछाल के साथ 1,041 रुपये प्रति 10 किलो पहुंच गए हैं, जबकि एक्सपेलर तेल के दाम भी 10 रुपये बढ़कर 1,031 रुपये प्रति 10 किलो हो गए हैं।

गुरुवार को जयपुर में सरसों खल की कीमतों में भी 15 रुपये की तेजी देखी गई है, जिससे भाव 2,540 रुपये प्रति क्विंटल के आसपास पहुंच गए हैं।

ऐसी रही सरसों की आवक

Sarso Teji Mandi Report : देशभर की मंडियों में सरसों की दैनिक आवक में गिरावट आई है, जो कि पिछले कारोबारी दिन की तुलना में कम है। इस दिन कुल आवकों में दर्जनों हजारों की कमी हुई है।

प्रमुख उत्पादक राज्यों में राजस्थान की मंडियों में 2.25 लाख बोरियों की आवक हुई है, मध्य प्रदेश में 75 हजार बोरियों की, उत्तर प्रदेश में 75 हजार बोरियों की, पंजाब और हरियाणा में 75 हजार बोरियों की और गुजरात में 35 हजार बोरियों की आवक दर्ज की गई है। अन्य राज्यों में भी 75 हजार बोरियों की आवक हुई है।

क्या सरसों रोके या बेचें

Sarso Teji Mandi Report : दोस्तों, चारों ओर से बादल छाए हुए हैं और मौसम अब खुलने वाला है, जैसे कि हमने एक्सपेक्ट किया था। देशभर में मंडियों में सरसों की दैनिक आवक में कमी देखी जा रही है, जो कि पिछले कारोबारी दिन की तुलना में काफी कम है। अहम सरसों उत्पादक राज्यों में राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, पंजाब और हरियाणा, गुजरात और अन्य राज्यों में आवक घट रही है।

इस समय खाद्य तेलों के बाजार में अच्छी तरह की मांग है, जिसके कारण खाद्य तेलों के आयातकों की खरीद की गति में कमी आई है और स्टॉक में कमी दिखाई जा रही है। गोयल कोटा प्लांट पर भी सरसों के भाव में तेजी दर्ज की गई है।

सरसों तेल की मांग का बढ़ना इस समय बाजार में दिखाई दे रहा है, जिसके कारण बाजार में तेजी की उम्मीद है। इस विपरीतता के साथ, विदेशी बाजारों में भी तेजी दिख रही है।

खासकर, इस समय विदेशी बाजारों में तेजी देखी जा रही है, जबकि घरेलू बाजार में सरसों उत्पादन बढ़ने के कारण बड़ी तेजी की संभावना कम है। इसलिए, Kisanekta.in Sarso Teji Mandi Report का मानना है कि जल्द ही सरसों की आवक 10 लाख बोरियों के स्तर को पार कर जाएगी।

इस समय बिना बहुत ज्यादा रिस्क लिए, सावधानी से बिजनेस करने की सलाह दी जा रही है। इसके अलावा, बाकी व्यापार को अपने विवेक से ही करना चाहिए

यह भी पढ़ें :

KisanEkta.in एक ऐसी वेबसाईट है जहां हम किसानों को जोड़ने, शिक्षित करने और सशक्त बनाने का काम कर रहे हैं। यहां पर आपको सबसे ताजा मंडी भाव (Mandi Bhav), किसान समाचार, सरकारी योजनाओं के अपडेट और कृषि और खेती से जुड़े ज्ञान की जानकारी मिलती है। हमारा उद्देश्य है कि हम किसानों को जोड़कर उन्हें उनके काम को बेहतर बनाने के लिए जरूरी समाधान प्रदान करना है। हम अपनी कोशिशों के माध्यम से किसान समुदाय को एक साथ लाने में मदद कर रहे हैं।