2025 तक कम नहीं होगी चावल की वैश्विक कीमतें :विश्व बैंक

Google News

Follow Us

04 नवम्बर 2023, नई दिल्ली: 2025 तक कम नहीं होगी चावल की वैश्विक कीमतें :विश्व बैंक – वैश्विक बाजारों में चावल की कीमतों में किसी भी प्रकार की कोई भी कमी की सभावनांए फिलहाल दिखाई नहीं दे रही हैं। विश्व बैंक ने हाल ही में अपनी रिपोर्ट जारी की हैं।

विश्व बैंक की संस्था ग्लोबल कमोडिटी आउटलुक के मुताबिक 2025 से पहले चावल की वैश्विक कीमतों में कोई भी उल्लेखनीय कमी आने की संभावना नहीं है। चावल की कीमतों में बढ़त का मुख्य कारण अलनीनो का जोखिम जारी रहना और दुनिया के प्रमुख निर्यातकों और आयातकों के नीतिगत फैसले और चावल उत्पादन और निर्यात के बाजार में संकुचन है।

विश्व बैंक द्वारा जारी ताजा रिपोर्ट के अनुसार 2022 की तुलना में 2023 में वैश्विक बाजार में चावल की कीमत औसतन 28 प्रतिशत अधिक है। 2024 तक वैश्विक बाजार में चावल की कीमतों में और भी 6 प्रतिशत और तेजी आने की संभावनाएं है।

इसके कारण भारत में कीमतों में बढ़ोत्तरी की अशंका से चिंता बढ़ गई हैं क्योकि अगस्त के महीने में कम बारिश के कारण 2023 में घरेलू बाजार में खरीफ में चावल का उत्पादन कम होने की संभावनांए  है।

केंद्र सरकार ने भारत से चावल के निर्यात पर पहले ही प्रतिबंध लगा रखा हैं। गौरतलब है कि भारत में चावल की कुछ किस्मों पर 20 फीसद निर्यात शुल्क है और बासमती चावल पर पहले से ही न्यूनतम निर्यात मूल्य लागू है। कैंद्र सरकार के इस कदम से वैश्विक बाजार में चावल के निर्यात में 40 प्रतिशत आपूर्ति कम हो गई हैं।

इस विश्व बैंक की रिपोर्ट में बताया गया है कि पर्याप्त आपूर्ति के कारण 2023 में कृषि जिंसों की कीमतों में 7 फीसद की गिरावट आने की संभावनांए है। वही 2024-25 में अन्य कृषि जिंसों की कीमतों में 2 प्रतिशत की और गिरावट आ सकती है।

KisanEkta.in एक ऐसी वेबसाईट है जहां हम किसानों को जोड़ने, शिक्षित करने और सशक्त बनाने का काम कर रहे हैं। यहां पर आपको सबसे ताजा मंडी भाव (Mandi Bhav), किसान समाचार, सरकारी योजनाओं के अपडेट और कृषि और खेती से जुड़े ज्ञान की जानकारी मिलती है। हमारा उद्देश्य है कि हम किसानों को जोड़कर उन्हें उनके काम को बेहतर बनाने के लिए जरूरी समाधान प्रदान करना है। हम अपनी कोशिशों के माध्यम से किसान समुदाय को एक साथ लाने में मदद कर रहे हैं।