कौन हैं सीतापुर की ‘Drone Didi’, मोदी हुए फैन; देखें विडिओ

Namo Drone Didi Sunita Devi Sitapur

Google News

Follow Us

Namo Drone Didi Sunita Devi Sitapur : PM Narendra Modi ने रविवार को ‘मन की बात’ की। इस बार भी मन की बात में उत्तर प्रदेश ने अपनी छाया बिखेरी। PM Modi ने युवाओं और महिलाओं का भी उल्लेख किया।

एक ओर उन्होंने सीतापुर की ‘ड्रोन दीदी’ के साथ चर्चा की, जबकि दूसरी ओर अपने वाराणसी दौरे के दौरान युवाओं को राह दिखाते हुए लगी फोटो प्रदर्शनी के स्मृतियों को साझा किया…

आईए आगे जानते हैं की कौन है सीतापुर की ड्रोन दीदी…

पहली बार ड्रोन कृषि विज्ञान केंद्र सीतापुर मे देख पाईं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में Namo Drone Didi Sunita Devi Sitapur से भी बात की। प्रधानमंत्री ने ड्रोन दीदी के परिवार और उनके बारे में जाना।

सुनीता ने बताया कि उन्होंने बीए तक पढ़ाई की है और उनके परिवार में माता जी, पति और दो बच्चे हैं। उनका जीविकोपार्जन खेतीबाड़ी से होता है। सुनीता ने बताया कि उन्होंने इलाहाबाद में फूलपुर इफको कंपनी से ट्रेनिंग ली थी और सीतापुर कृषि विज्ञान केंद्र में पहली बार ड्रोन देखा था।

प्रधानमंत्री मोदी ने उनसे पूछा कि क्या पहले दिन उन्हें ड्रोन दिखाया गया था या फिर कुछ बोर्ड-कागज पर पढ़ाया गया था, फिर मैदान में प्रैक्टिस कराया गया था।

IFFCO से ली ड्रोन उड़ाने की ट्रैनिंग : Namo Drone Didi Sunita Devi Sitapur

सुनीता ने बताया कि हम लोग जब वहाँ गए थे, तो उसके दूसरे दिन से ट्रेनिंग शुरू हो गई। पहले तो थ्योरी पढ़ाई गई थी, फिर क्लासेस चली। ड्रोन में कौन-कौन से पार्ट्स होते हैं, कैसे-कैसे काम करते हैं, ये सभी चीजें सिखाई गईं।

तीसरे दिन पेपर हुआ, फिर कंप्यूटर पर भी Namo Drone Didi Sunita Devi Sitapur ने प्रश्न पत्र को हल किया। पहले क्लासेस चली, उसके बाद टेस्ट लिया गया और फिर प्रैक्टिकल कार्यशाला करवाई गई। ड्रोन को कैसे उड़ाना है, कैसे कंट्रोल करना है, ये सभी चीजें सिखाई गई थीं।

सिर्फ 30 मिनट मे 35 एकड़ खेत मे कर देतीं हैं स्प्रे

Namo Drone Didi Sunita Devi Sitapur ने बताया कि बरसात के दौरान फसलों को बड़ी मुश्किल होती है, क्योंकि उन्हें प्रभावित किया जाता है। ऐसे में, हम मेड़ पर खड़े होकर ड्रोन के साथ काम कर सकते हैं। यदि कोई कीड़ा मकोड़ा खेत के अंदर है, तो हमें सावधानी बरतनी पड़ेगी।

अब तक, हमने 35 एकड़ खेत में स्प्रे कर दिया है। प्रधानमंत्री के सवाल पर, सुनीता ने बताया कि किसान इस से संतुष्ट हैं। उन्हें इसका बहुत अच्छा अनुभव हो रहा है और समय भी बच रहा है। हमें सिर्फ आकर खेत बताना होता है कि कहां से कहां तक मेरा खेत है, और इस काम को मात्र आधे घंटे में पूरा किया जा सकता है। ड्रोन देखने के लिए भी बहुत सारे लोग आते हैं।

महिलाओं को कर रहीं है प्रेरित

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “मैं एक लक्ष्य रखता हूँ कि हर किसी को अपनी दीदी को लखपति बनाने का मौका मिलना चाहिए। देशभर की बहनें सुन रही हैं, आज एक ड्रोन दीदी मेरे साथ बात कर रही हैं। आप क्या कहेंगी?”

इस पर Namo Drone Didi Sunita Devi Sitapur ने कहा, “मेरी तरह की हजारों बहनें आगे आएं और ड्रोन दीदी बनें। मुझे खुशी होगी कि हम साथ हैं और एक-दूसरे का साथ देते हैं। ड्रोन दीदी बनने से हमारा समय भी बचेगा और हमें कृषि को और अधिक आधुनिक बनाने का मौका मिलेगा।” प्रधानमंत्री मोदी ने सुनीता को बधाई देते हुए कहा कि “नमो ड्रोन दीदी” देश में कृषि को और अधिक उन्नत बनाने का बड़ा माध्यम बन रही है।

यह भी पढ़ें :

KisanEkta.in एक ऐसी वेबसाईट है जहां हम किसानों को जोड़ने, शिक्षित करने और सशक्त बनाने का काम कर रहे हैं। यहां पर आपको सबसे ताजा मंडी भाव (Mandi Bhav), किसान समाचार, सरकारी योजनाओं के अपडेट और कृषि और खेती से जुड़े ज्ञान की जानकारी मिलती है। हमारा उद्देश्य है कि हम किसानों को जोड़कर उन्हें उनके काम को बेहतर बनाने के लिए जरूरी समाधान प्रदान करना है। हम अपनी कोशिशों के माध्यम से किसान समुदाय को एक साथ लाने में मदद कर रहे हैं।